कोरोना महामारी में टेलिकॉम सेक्टर उछाल पर

by GoNews Desk 3 weeks ago Views 4992
Profit in Pandemic: Telecom sector on boom
मुकेश अंबानी की कंपनी रिलायंस जियो अब देश की सबसे बड़ी टेलिकॉम कंपनी बन गई है। साथ ही उन्होंने ये भी बताया है कि वो क़र्ज़मुक्त हो गए हैं। ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि उन्होंने कई विदेशी कंपनियों को अपनी कंपनी रिलायंस जियो के शेयर बेचे हैं। इसी में नया नाम जुड़ गया है गूगल का। गूगल ने 33 हज़ार करोड़ रूपये से जियो में सात फीसदी से ज़्यादा की हिस्सेदारी खरीदे हैं।

गूगल और जियो के बीच शेयर की खरीदारी को लेकर एजीएम भी हो चुका है। रिपोर्ट बताते हैं कि रिलायंस जियो ने कोरोना महामारी के इस दौर में दर्जनों विदेशी कंपनियों को करीब एक लाख 48 हज़ार करोड़ रूपये के शेयर बेच दिए हैं।

Also Read: अंकुरित फसल पर जेसीबी चलाने की कोशिश की तो दलित परिवार ने कीटनाशक पिया

दूसरी तरफ कोरोना वायरस महामारी की वजह से हुए लॉकडाउन में करीब 28 लाख लोगों ने अपना मोबाइल फोन बंद कर दिया है। टेलिकॉम रेगुलटरी ऑथोरिटी ऑफ इंडिया द्वारा जारी ताज़ा आंकड़े बताते हैं कि मार्च के अंत तक कुल सब्सक्राइबर में 33.47 फीसदी हिस्सेदारी रिलायंस जियो का था। वहीं दूसरे नंबर पर 28.31 फीसदी एयरटेल, वोडाफोन के पास 27.57 फीसदी और कुल मोबाइल फोन सब्सक्राइबर में 10.35 फीसदी हिस्सेदारी बीएसएनएल की थी।

कोरोना लॉकडाउन की वजह से भारी संख्या में लोगों ने मोबाइल फोन से भी दूरी बना ली है। टीआरएआई के ही आंकड़े बताते हैं कि जहां फरवरी महीने में देश में कुल 118.84 करोड़ मोबाइल फोन सब्सक्राइबर थे, वो मार्च में घटकर 117.797 करोड़ रह गए।

हालांकि सबसे ज़्यादा गिरावट शहरी इलाकों में हुआ है। आंकड़ों के मुताबिक़ शहरों में फरवरी महीने तक 66.123 करोड़ कुल मोबाइल फोन सब्सक्राइबर थे, वो घटकर मार्च महीने में 65.646 करोड़ रह गए हैं। जबकि ग्रामीण इलाकों में मोबाइल फोन सब्सक्राइबर्स की तादाद बढ़ी है। आंकड़ों के मुताबिक़ फरवरी के मुक़ाबले मार्च महीने में 1.89 करोड़ सब्सक्राइबर ग्रामीण इलाकों में बढ़े हैं।

जबकि रिलायंस जियो ने महामारी के इस दौर में भी लगातार मुनाफे में रही है। इसी साल मार्च महीने के आंकड़े बताते हैं कि जियो ने 46 लाख 87 हज़ार से ज़्यादा नए सब्सक्राइबर जोड़ने में कामयाब रहा। वहीं इसका घाटा सबसे ज़्यादा वोडाफोन-आइडिया को हुआ है। लॉकडाउन की वजह से वोडाफोन-आइडिया ने 63 लाख 53 हज़ार से ज़्यादा अपने सब्सक्राइबर खो दिए।

चौंकाने वाली बात ये है कि देश में मोबाइल फोन के करीब 98 करोड़ ही एक्टिव यूज़र हैं। यही नहीं एक्टिव यूज़र के मामले में रिलायंस जियो तीसरे नंबर पर है। कुल मोबाइल सब्सक्राइबर में सबसे ज़्यादा एयरटेल के 96 फीसदी से ज़्यादा यूज़र एक्टिव हैं। जबकि रिलायंस जियो के 80.9 फीसदी यूज़र ही एक्टिव हैं।

Latest Videos

Facebook Feed