महारष्ट्र में राष्ट्रपति शासन के बाद भी सरकार गठन की कोशिशें अभी बरकरार

by GoNews Desk 3 weeks ago Views 1231
Uddhav Thackeray
ads
महाराष्ट्र में मंगलवार को राज्यपाल की सिफ़ारिश पर राज्य में राष्ट्रपति शासन लगने के बाद शिवसेना इसे लेकर सुप्रीम कोर्ट पहुंची गई है। हालांकि राज्य में राष्ट्रपति शासन लगने के बाद भी सरकार गठन की कोशिशें अभी भी बरकरार है। उद्धव ठाकरे ने कहा कि वो सरकार बनाने की स्थिति में हैं और NCP और कांग्रेस से चर्चा के बाद समर्थन पर फैसला करेंगे। उधर बीजेपी नेता नारायण राणे ने दावा किया कि सरकार बीजेपी ही बनाएगी।

महाराष्ट्र में नई सरकार के गठन के लिए 20 दिनों से जारी खींचतान के बीच मंगलवार को  राज्य में राष्ट्रपति शासन लगा दिया गया है। राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी की सिफ़ारिश पर राष्ट्रपति ने राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाने का फैसला किया।

Also Read: दिल्ली-NCR के कई इलाकों में आज AQI 500 से ऊपर

राष्ट्रपति शासन लगने के बाद शिवसेना इसे लेकर सुप्रीम कोर्ट पहुंची गई और मामले की जल्द सुनवाई की मांग की। साथ ही फैसले को लेकर शिवसेना ने राज्यपाल और बीजेपी पर हमला बोला।

उधर कांग्रेस और एनसीपी ने इस फ़ैसले को लोकतंत्र और संवैधानिक प्रक्रिया का मजाक करार दिया। हालांकि राज्य में राष्ट्रपति शासन लगने के बाद भी सरकार गठन की कोशिशें अभी भी बरकरार है। शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने कहा कि वो सरकार बनाने की स्थिति में हैं और NCP और कांग्रेस से चर्चा के बाद समर्थन पर फैसला करेंगे। उधर बीजेपी नेता नारायण राणे ने दावा किया कि सरकार बीजेपी ही बनाएगी।  राणे ने कहा कि हमारे पास 145 का आंकड़ा हो जाएगा और हम ही सरकार बनाएंगे।