बजट सत्र से पहले हंगामा, विपक्षी नेताओं का सीएए-एनपीआर-एनआरसी के ख़िलाफ़ प्रदर्शन

by GoNews Desk 3 weeks ago Views 716
Budget session: Opposition leaders protest against
ads
संसद के बजट सत्र से पहले विपक्ष के सांसदों ने संसद के बाहर स्थित महात्मा गांधी की प्रतिमा के सामने सीएए-एनपीआर-एनआरसी के ख़िलाफ़ विरोध प्रदर्शन किया है। मीडिया से बात-चीत में विपक्षी नेताओं ने केन्द्र सरकार पर जमकर हमलो बोला।

27 जनवरी को दिल्ली में एक चुनावी सभा में वित्त राज्य मंत्री ने गद्दारों को गोली मारने की बात कही थी। इसपर कांग्रेस नेता गौरव गोगोई ने कहा, “ये केवल मंत्रियों का नारा नहीं है बल्कि ये पार्टी का नारा है। इस क़तार में केवल अनुराग ठाकुर नहीं है बल्कि बीजेपी के कई नेता हैं जो गोड्से को देशभक्त मानते हैं।” केन्द्र सरकार द्वारा किये गए नागरिकता क़ानून में सोशधन को गौरव गोगोई ने देश को बांटने वाला फैसला बताया है। 

Also Read: देश में CAA के ख़िलाफ़ विरोध प्रदर्शन जारी, शाहीन बाग़ धरने का आज 48वां दिन

दिल्ली के जामिया में 30 जनवरी को हुई गोली कांड पर शिवसेना नेता संजय राउत ने सवाल खड़े किये हैं। उन्होंने कहा, “गोली क्यों चली? और जिस वक्त गोली चली उस वक्त पुलिस कहां थी? इस प्रकार का माहौल देश में कौन बना रहा है? ये भी देखना पड़ेगा।”

उधर राजद से लोकसभा सांसद मनोज झा ने अनुराग ठाकुर के बयान पर कहा, “जब एक केन्द्रीय मंत्री कहेंगे देश के गद्दारों को गोली मारो…… तो सरकार की उस नीति और नीयत से गद्दार हर व्यक्ति हो जाता है। यदि देश को महफूज़ और सुरक्षित रखने के लिए सरकार के ख़िलाफ़ बोलूं तो मैं गद्दार हो गया?”

वहीं कांग्रेस नेता रिपुन बोरा ने संशोधित नागरिकता क़ानून, एनपीआर और एनआरसी के ज़रिये लोगों को असली मुद्दों से भटकाने का केन्द्र सरकार पर आरोप लगाया है। उन्होंने सरकार के इन फैसलों को संविधान, लोकतंत्र और धर्मनिरपेक्षता के लिए ख़तरा बताया है।

वीडियो देखिये

संशोधित नागरिकता क़ानून, एनआरसी और एनपीआर को लेकर देशभर में पिछले दो महीने से विरोध प्रदर्शन जारी है। वहीं राजनीतिक पार्टियों की दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिये एक के बाद एक रैलियां चल रहा है। रैलियों में भारतीय जनता पार्टी के आला कमान से लेकर राज्य मंत्रियों तक आपत्तिजनक बयानबाज़ी करने में लगे हैं। उधर बीते गुरूवार को दिल्ली के जामिया में गोली चलने की घटना सामने आई।