दिल्ली में नागरिकता क़ानून के ख़िलाफ़ प्रदर्शन जारी

by GoNews Desk 1 month ago Views 859
Demonstrations continue against citizenship law in
ads
नागरिकता क़ानून के ख़िलाफ़ दिल्ली में भीम आर्मी के प्रदर्शन को इजाज़त नहीं दी गई है। दिल्ली की जामा मस्ज़िद से लेकर जंतर-मंतर तक होने वाले भीम आर्मी के मार्च को दिल्ली पुलिस की ओर से इजाज़त नहीं मिली है।

नागरिकता क़ानून पर चल रहे विरोध प्रदर्शन को देखते हुए राजधानी दिल्ली में शुक्रवार को भी प्रशासन किसी तरह के विरोध से निपटने के लिए पहले से ही काफ़ी सतर्क है। दिल्ली में शुक्रवार को चावड़ी बाज़ार, लाल क़िला और जामा मसज़िद मेट्रो स्टेशन को बंद रखा गया है। दिल्ली पुलिस ने महिला कांग्रेस की अध्यक्ष शर्मिष्ठा मुखर्जी समेत अन्य कांग्रेस के नेताओं को हिरासत में ले लिया है। उन्हे गृह मंत्री अमित शाह के घर के बाहर विरोध-प्रदर्शन करने के लिए हिरासत में लिया गया है।

Also Read: बॉलीवुड फिल्म रंग दे बसंती की स्टार कास्ट CAA के विरोध में उतरी

दिल्ली पुलिस में पीआरओ एमएस रंधावा ने कहा कि जामा मस्ज़िद इलाक़े में  धारा 144 नहीं लगाई गई है। उन्होंने कहा कि लोग सहयोग कर रहे हैं और शांति चाहते हैं।

दिल्ली पुलिस ड्रोन के ज़रिये हालात पर नज़र रख रही है। उत्तर-पूर्वी दिल्ली के 14 में से 12 पुलिस स्टेशनों पर धारा 144 लगाई गई है। पुलिस फ्लैग मार्च के साथ-साथ सोशल मीडिया पर भी निगरानी रख रही है। ज्वाइंट सीपी आलोक कुमार ने कहा कि उत्तर-पूर्वी दिल्ली में सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए सीआरपीएफ और आर ए एफ की दस टुकड़ियां तैनात की गई हैं।

उत्तर-पूर्वी दिल्ली के सीलमपुर में बीते दिनों हिंसक प्रदर्शन हुआ था और पुलिस को आंसू गैस के गोले छोड़ने पड़े थे। शुक्रवार को हालात पर नज़र रखने के लिये उत्तर-पूर्वी दिल्ली की एडिश्नल डीसीपी आरपी मीना समेत अन्य बड़े अधिकारियों ने सीलमपुर क्षेत्र में फ्लैग मार्च किया। साथ ही सभी संवेदनशील जगहों पर दिल्ली पुलिस का फ्लैग मार्च जारी है।

जामिया में हुए प्रदर्शन के बाद से ही देश की राजधानी में हालात बेकाबू हो रहा है। गुरूवार को दिल्ली में मेट्रो सेवा भी ठप रही और कुछ जगहों पर इंटरनेट सेवाओं पर भी पाबंदी लगाई गई थी।