गौतम नवलखा 22 जुलाई तक एनआईए की हिरासत में भेजे गए

by GoNews Desk 3 weeks ago Views 1145
Gautam Navlakha sent to NIA custody till 22 July
मशहूर मानवाधिकार कार्यकर्ता गौतम नवलखा की ज़मानत याचिका एनआईए की विशेष अदालत ने ख़ारिज करते हुए उन्हें 22 जुलाई तक एनआईए की हिरासत में भेज दिया है। उन्होंने एनआईए कोर्ट में डिफॉल्ट ज़मानत के लिए याचिका दायर की थी।

नवलखा ने कहा था कि उन्हें एनआईए द्वारा बिना किसी चार्जशीट के 90 दिनों से ज़्यादा हिरासत में रखा गया है, इसलिए क़ानून के तहत वो डिफॉल्ट ज़मानत पाने के हकदार हैं। मगर एनआईए कोर्ट ने नवलखा की ज़मानत याचिका ख़ारिज करते हुए कहा कि सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों के मुताबिक़ हाउस अरेस्ट और गिरफ्तारी की अवधि को एक साथ नहीं जोड़ा जा सकता है।

Also Read: ईरान ने भारत से चाबहार क़रार तोड़ा और चीन से 400 बिलियन डॉलर की डील की

एनआईए ने गौतम नवलखा को भीमा कोरेगांव हिंसा मामले में आरोपी बनाया है. भीमा कोरेगांव में 1 जनवरी 2018 को हुई हिंसा मामले में पुणे पुलिस ने उन्हें अगस्त 2018 को गिरफ्तार किया था। नवलखा पर पुलिस ने आरोप लगाया था कि उन्होंने 31 दिसंबर 2017 को पुणे में आयोजित एलगार परिषद के कार्यक्रम में भड़काऊ बयानबाज़ी की थी।

वहीं हिंसा मामले में एक और आरोपी और मशहूर कवि वरवरा राव को जेल में चक्कर आने के बाद मुंबई के जेजे अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। उन्होंने भी ज़मानत और मेडिकल जांच को लेकर बॉम्बे हाई कोर्ट में याचिका दायर की थी। उन्होंने कोर्ट के सामने बताया था कि उनकी तबीयत ख़राब हो रही है और कोरोना संक्रमण का भी ख़तरा है। 80 वर्षीय वरवरा राव पिछले दो साल से जेल में बंद हैं।

Latest Videos

Facebook Feed