नए साल पर महंगाई का तोहफा, रेल किराया, पेट्रोल-डीजल और LPG के दाम बढ़े

by Deepak Pokharia 1 month ago Views 1967
gifts to common man on new year, Price hike of rai
ads
नए साल के मौके पर आम आदमी को महंगाई के तीन बड़े झटके लगे हैं। 1 जनवरी से रेल किराए, एलपीजी और पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ा दिए गए हैं। उधर विपक्षी पार्टियों ने इस बढ़ोत्तरी की आलोचना करते हुए सरकार पर सवाल खड़े किए हैं।

महंगाई से जूझ रहे आम आदमी को नए साल के मौके पर महंगाई का बड़ा झटका लगा है। नए साल के मौके पर 1 जनवरी से रेल किराए, एलपीजी और पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी कर दी गई है। सबसे पहले बात करते हैं रेल किराए की। रेलवे ने 1 जनवरी से 1 पैसे से 4 पैसे प्रति किलोमीटर तक यात्री किराए में बढ़ोतरी की है।

Also Read: एक नज़र 2019 के राजनीतिक हालात पर

वीडियो देखिये 

रेलवे ने ऑर्डिनरी नॉन एसी ट्रेनों में 1 पैसे प्रति किलोमीटर, मेल और एक्सप्रेस ट्रेनों के लिए 2 पैसे प्रति किलोमीटर और एसी ट्रेनों के किराए में 4 पैसे प्रति किलोमीटर की बढ़ोतरी की है। रेलवे की तरफ से बढ़ाए गए इस किराये का सबसे बड़ा असर लंबी दूरी की यात्रा करने वाले यात्रियों पर पड़ेगा।

रेल किराये के बाद अब बात करते हैं एलपीजी गैस सिलेंडर की। गैस कंपनियों ने लगातार पांचवें महीने रसोईं गैस सिलेंडर की कीमतों में बढ़ोतरी करते हुए 1 जनवरी से बिना सब्सिडी वाले गैस सिलेंडर के दाम में 19 रुपए की बढ़ोतरी कर दी।

बढ़ोतरी के बाद अब दिल्ली में 14.2 किलो वाला घरेलू एलपीजी सिलेंडर की कीमत 714 रुपए हो गई है। इसी तरह गैस कंपनियों ने 19 किलो वाले कमर्शियल गैस सिलेंडर के दाम में  29 रुपए 50 पैसे की बढ़ोतरी की है। बढ़ोतरी के बाद अब 19 किलो वाला कमर्शियल गैस सिलेंडर की कीमत 1325 रुपए हो गई है।

रेल किराये और एलपीजी के बाद अब बात करते हैं पेट्रोल-डीजल की। नए साल के पहले ही दिन बुधवार को  पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी हुई। गुरुवार को भी पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी देखने को मिली।

दिल्ली, मुंबई और कोलकाता में पेट्रोल में 13 पैसे और चेन्नई में 14 पैसे की बढ़ोतरी हुई। इसी तरह दिल्ली और कोलकाता में डीजल में 16 पैसे और मुंबई और चेन्नई में 17 पैसे की बढ़ोतरी हुई। इस बढ़ोतरी के बाद दिल्ली में एक लीटर पेट्रोल की कीमत 75 रुपए 31 पैसे और एक लीटर डीजल की कीमत 68 रुपए 16 पैसे हो गई है।

उधर विपक्षी पार्टियों ने इस बढ़ोत्तरी की आलोचना करते हुए सरकार पर सवाल खड़े किए हैं। सीपीआईएम नेता सीताराम येचुरी ने जहां इस बढ़ोतरी को नए साल पर मोदी सरकार का तोहफा करार दिया, वहीं महिला कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सुष्मिता देव ने इसे गरीब के प्रति अन्याय करार दिया।