GoPlus: एक नज़र आज की बड़ी ख़बरों पर

by GoNews Desk 2 weeks ago Views 1152
Top News of the Day
GoPlus: एक नज़र आज की बड़ी ख़बरों पर

Also Read: कोरोना का इलाज करने वाले डॉक्टरों के साथ बदसलूकी, मकान खाली करने की मिल रही धमकी

देश में कोणवीरस मरीज़ों की संख्या 560 के पार हो गयी है. राजधानी दिल्ली में पिछले 24  घंटों में , 5 नए मामले सामने आये हैं जिसकी घोषणा अब से कुछ देर पहले दिल्ली के मुख्या मंत्री अरविन्द केजरीवाल ने दी. 21 दिनों के लॉकडाउन के पहले दिन , देश भर में सनाटा पसरा हुआ है।  लॉकडाउन के पहले ही दिन रोज़मर्रा के सामानों की किल्लत कई इलाक़ों में देखी गयी।  लॉकडाउन तोड़ने पर देश के अलग अलग हिस्सों में लोगों के खिलाफ फिर दर्ज भी हुयी हैं।  दुनियाभर में कोरोनावायरस से संक्रमित मरीज़ों की संख्या 4 लाख 34  हज़ार के पार हो गयी है और अब तक 19 हज़ार से ज़्यादा मौतें दर्जकी गयीं हैं 


पूरी दुनिया कोरोनावायरस के खिलाफ  एक बड़ी लड़ाई लड़ रही है और इसकी कमान डॉक्टरों और स्वास्थ्यकर्मियों ने संभाल रखी है। लेकिन कोरोना का इलाज करने वाले डॉक्टरों के साथ बदसलूकी की जी रही है , जो डॉक्टर कोरोना के मरीज़ों का इलाज कर रहें है उनके मकानमालिक उन्हें यह कह कर मकान खाली करने की धमकी दे रहे है कि क्योंकि  वो CORONA  के मरीज़ों का इलाज कर रहे hain तो इससे वायरस फैलेगा। डॉक्टरों के साथ हो रही बदसलूकी पर अब केंद्र और राज्य सरकारों ने संज्ञान लेते हुए कार्यवाई शुरू कर दी है। 


 लॉकडाउन की वजह से राजधानी दिल्ली में ई कॉमर्स कंपनियों को तरह-तरह की मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है. कंपनियां खाने-पीने का सामान लोगों के घरों तक नहीं पहुंचा पा रही हैं. कहीं इन कंपनियों के स्टाफ को रोका जा रहा है तो कहीं पुलिस पहुंचकर warehouse बंद करवा रही है. इस सिलसिले में ई कॉमर्स कंपनियों ने दिल्ली पुलिस मुख्यालय पहुंचकर अपनी परेशानी बताई. दिल्ली पुलिस ने कंपनियों को भरोसा दिलाया है कि उनके स्टाफ को कर्फ्यू पास जारी किया जाएगा और ऑनलाइन शॉपिंग और डिलेवरी का काम जारी रहेगा. 


लॉकडाउन में किसी भी मुसीबत के लिए दिल्ली पुलिस ने हेल्पलाइन नंबर 23469536 जारी किया।  सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा है की ज़रूरी सामानों की दुकान खोलने वालों को ई पास जारी किए जाएंगे और लोगों को घबराने की कोई ज़रुरत नहीं है


21 दिन के लॉकडाउन के पहले दिन , दिल्ली नॉएडा बॉर्डर पर जीरो लेवल ट्रैफिक देखा गया। यहाँ भी सिर्फ उन् वाहनों को जाने दिया गया जो ज़रूरी सेवाओं से जुडी हैं 


24 मार्च की रात देशव्यापी बंद के ऐलान की मार , दिहाड़ी मज़दूरों पर सबसे ज़्यादा पड़ रही है. ग्वालियर के इंदर सिंह , राजधानी दिल्ली के टैंक रोड पर , कपड़ों का थोक बाज़ार में दिहाड़ी मज़दूर हैं. लॉकडाउन के बाद मकान मालिक ने उन्हें घर से निकाल दिया. इंदर के मुताबिक उनकी मां ग्वालियर में अकेली हैं और उनका जाना ज़रूरी है. वो अब अपने भाई के साथ दिल्ली से ग्वालियर पैदल ही निकल चुके हैं.  


 21 दिन के लॉकडाउन की घोषणा के बाद देशभर में लोग अचानक सड़कों पर उतर आये , उन्हें लगा कि अब शायद उन्हें अपने ज़रूरी सामान शायद ना मिलें।  ऐसा ही कुछ नज़ारा दिल्ली के आज़ादपुर मंडी में aaj  दिखा जहाँ लोगों की भारी भीड़ देखने को मिली। इसके साथ ही अब दिल्ली के आज़ादपुर सब्ज़ी मंडी में रोज़मर्रा के सामानों की कालाबाजारी भी शुरू हो गई है। लोगों का कहना है कि आलू, प्याज, टमाटर, आटा वगैरह के दाम बढ़ा दिए गए हैं। देखिए हमारे सहयोगी अजय झा की आज़ादपुर सब्ज़ी मंडी से ग्राउंट रिपोर्ट।


लॉकडाउन के पहले ही दिन दिल्ली से लेकर नोएडा तक आवश्यक चीज़ों की कमी दिखने लगी है। वहीँ अब दिल्ली के ख़ान मार्केट में आलू अब 80 रुपए किलो mil रहें है वहीँ कई जगहों पर  दूध, ब्रेड, मक्खन और साफ़-सफ़ाई से जुड़े सामानों की आपूर्ति सामान्य नहीं है। खान मार्किट के कारोबारियों का कहना कि उनके पास भी सप्लाई नहीं आ रही है। 


 लॉकडाउन के मद्देनज़र अब राशन की दुकानों ने नायाब तरीके ढूंढ निकाले हैं ताकि खरीदारों के बीच सोशल डिस्टन्सिंग बने रहे।  गोनूस संवादाता अंजलि ओझा की रिपोर्ट 


लॉकडाउन की घोषणा के बाद , अब कई लोग जहाँ हैं वहीं फँस गए हैं. इनमें कई छात्र भी शामिल हैं।  अब कम से कम 80 कश्मीरी स्टूडेंट्स बांग्लादेश में फंस गए हैं.


पूरी दुनिया का आर्थिक चक्का कोरोना वायरस के चलते धीरे हो चूका है। ज़ाहिर है कैपिटल मार्केट्स में उथल पुथल मची हुई है और अब तक करोड़ो रुपए का निवेश बाजार से उड़ चूका है। लेकिन जब दुनिया के छोटे बड़े सभी कैपिटल मार्केट्स काफी सिकुड़ चुके है, वही चीन के स्टॉक बाजार तेज़ी से रिकवर कर फिर गुलज़ार हो रहे है।  


कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए सोशल डिस्टेंसिंग पर ख़ासा ध्यान दिया जा रहा है। आज प्रधानमंत्री मोदी की अध्यक्षता में कैबिनेट मीटिंग हुई, जिसमें सभी सांसद और प्रधानमंत्री मोदी एक-एक मीटर की दूरी बनाकर बैठे।

Latest Videos

Facebook Feed