बिहार और असम में बाढ़ का ख़तरा, नदियां उफान पर

by GoNews Desk 1 month ago Views 3415
Risks of floods in Bihar and Assam, rivers in spat
कोरोनावायरस महामारी के बीच अब देश के दो राज्य असम और बिहार में बाढ़ का ख़तरा मंडरा रहा है. असम की चार और बिहार की दो बड़ी नदियां उफान पर हैं. सेन्ट्रल वाटर कमिशन ने नोटिस जारी कर कहा है कि असम के शिवसागर ज़िले की दसांग नदी ख़तरे के निशान से ऊपर बह रही है. सुबह 9 बजे तक दसांग नदी का जलस्तर 94.99 मीटर मापा गया जोकि ख़तरे के निशान से 0.53 मीटर ऊपर है.

राज्य की धनसीरी नदी का जलस्तर भी बढ़ रहा है लेकिन सुबह 9 बजे से इसके जलस्तर में 1.35 मीटर की गिरावट आई है। नुमलिगढ़ के दक्षिण में बहने वाली इस नदी का जलस्तर फिलहाल 78.77 मीटर पर पहुंच गया है जो अपने ख़तरे के निशान 77.42 मीटर से ज़्यादा है.

Also Read: मणिपुर में बग़ावत की आंच मेघालय पहुंची, मेघालय सीएम इंफाल आए

इसी तरह सुबह 9 बजे तक जोरहाट ज़िले में ब्रम्हपुत्र नदी का जलस्तर 85.82 मीटर था जो फिलहाल स्थिर है. ब्रम्हपुत्र नदी अपने ख़तरे के निशान 85.04 मीटर से 0.78 मीटर उपर बह रही है. वहीं सोनितपुर ज़िले की जिया भराली नदी के जलस्तर में भी बढ़ोत्तरी हो रही है. सुबह 9 बजे तक इस नदी का जलस्तर 77.38 मीटर मापा गया जो अपने ख़तरे के निशान से 0.38 मीटर ज़्यादा है.

उधर बिहार की दो बड़ी नदियां गंडक और बागमति उफान पर हैं. गोपालगंज के डुमरिया में गंडक नदी का जलस्तर 62.32 मीटर मापा गया जो अपने ख़तरे के निशान से 0.10 मीटर ऊपर है. बागमती नदी भी अपने ख़तरे के निशान से 0.24 मीटर ऊपर बह रही है. सुबह 9 बजे तक बागमती नदी का जलस्तर 53.97 मीटर था जो अपने ख़तरे के निशान 53.73 मीटर से ज़्यादा है.

वीडियो देखिए

 

बता दें कि बीते साल जुलाई में दोनों राज्यों में आई बाढ़ ने भारी तबाही मचाई थी. जुलाई 2019 में आई बाढ़ से दोनों राज्यों में करीब 1.11 करोड़ लोग प्रभावित हुए थे. पिछले साल बिहार में 12 ज़िलों के 72.78 लाख लोग बाढ़ की चपेट में आए जबकि असम के 18 ज़िलों में करीब 38.37 लाख लोग बाढ़ की चपेट में आए.

दोनों राज्यों में बाढ़ की तबाही से सैकड़ों जानें गई और सैकड़ों घर तबाह हुए थे. असम में इस साल भी बाढ़ तकरीबन 10 ज़िलों में तबाही मचा चुकी है जिसमें तक़रीबन चार लाख लोग प्रभावित हुए और कई लोगों की मौत हुई.

Latest Videos

Facebook Feed