एएमयू छात्रों की वीसी को चेतावनी, ‘हॉस्टल खाली करवाने से आंदोलन ख़त्म नहीं होगा’

by Shahnawaz Malik 2 months ago Views 1053
Warning to VC of AMU students, 'emptying hostels w
ads
एएमयू में छात्रों के आंदोलन को ख़त्म करवाने की नीयत से यूनिवर्सिटी प्रशासन ने पांच जनवरी तक एएमयू में छुट्टी कर दी है लेकिन इसके बावजूद प्रदर्शनों का दौर जारी है. अब अलीगढ़ शहर में रहने वाले एएमयू स्टूडेंट्स ने कैंडल मार्च निकालकर कहा है कि हॉस्टल ख़ाली करवाने से नागरिकता क़ानून के ख़िलाफ़ आंदोलन नहीं ख़त्म किया जा सकता. क़ानून रद्द नहीं होने तक छात्र आंदोलन और प्रदर्शन करते रहेंगे.

अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी को पांच जनवरी तक बंद करने के बावजूद कैंपस में विरोध प्रदर्शन जारी है. अब अलीगढ़ शहर में रहने वाले एएमयू स्टूडेंट्स अपने पेरेंट्स के साथ उन छात्रों के समर्थन में उतर गए हैं जिनपर 15 दिसंबर को यूपी पुलिस ने कैंपस में घुसकर बर्बर कार्रवाई की थी. प्रदर्शनकारी छात्रों ने कहा कि हॉस्टल खाली करवाकर उनकी आवाज़ दबाई नहीं जा सकती है.

Also Read: श्रीलंका और ऑस्ट्रेलिया का भारतीय दौरा 2020, एक नज़र रिकार्ड्स पर

एएमयू के प्रदर्शनकारी छात्र वाइस चांसलर प्रोफ़ेसर तारिक़ मंसूर और रजिस्ट्रार एस अब्दुल हामिद से ख़ासे नाराज़ हैं. छात्रों का आरोप है कि एएमयू कैंपस में पुलिस की हिंसा वीसी और रजिस्ट्रार की शह पर हुई. लिहाज़ा उनके ख़िलाफ़ भी कार्रवाई होनी चाहिए. 

वीडियो देखिये

एएमयू छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष ने कहा कि प्रदर्शनकारी छात्र अपने पेरेंट्स को साथ लेकर आए हैं ताक़ि यूनिवर्सिटी प्रशासन उनकी नीयत पर सवाल न खड़ा कर पाए. एएमयू छात्रों ने साफ़ किया है कि कैंपसों में हिंसा और नागरिकता क़ानून के ख़िलाफ़ उनका विरोध प्रदर्शन जारी रहेगा. पांच जनवरी को यूनवर्सिटी खुलने के बाद आंदोलन में और तेज़ी आएगी.