ट्रम्प के भारत दौरे से किसका फायदा?

by GoNews Desk 1 month ago Views 2837
Who benefited from Trump's visit to India?
ट्रम्प के आने से गुजरात सरकार से लेकर भारत सरकार तक सब की नींद उड़ी हुई है, क्योंकि आने से पहले ट्रम्प बार-बार दोहरा कर रहे हैं कि 70 लाख लोग उनका स्वागत करेंगे। 56 लाख की आबादी वाले अहमदाबाद में 70 लाख लोग कहाँ से लाए जाएँगे समझ नहीं आ रहा। सड़कें साफ़ हो रही हैं।

झुग्गियाँ हटाई जा रही हैं। जो नहीं हटाई जा सकती तो उसे ढंकने के लिए दीवार बना दी गई है। शहर सजाया जा रहा है जैसे किसी दूल्हे के स्वागत की तय्यारी हो। 

Also Read: राजस्थान में नागौर में दलित हिंसा मामले में सात गिरफ्तार

टीवी चैनल आपको सब बातें बताएँगे। ट्रम्प ने क्या खाया, ट्रम्प ने क्या पिया। ट्रम्प उठे, ट्रम्प बैठे ट्रम्प मुस्कुराए, ट्रम्प हिले। पल पल की जानकारी टीवी पर दी जाएगी। ये भी बताया जाएगा कि महामहिम ट्रम्प की कार जिसका नाम बीस्ट है उसकी क्या-क्या ख़ासियत है। ट्रम्प की बीवी के कपड़ों पर और फ़ैशन सेंस पर भी बहस होगी।

मोदी और ट्रम्प की दोस्ती के गुणगान होंगे। 28 जगह होने वाले रंगारंग कार्यक्रमों की झलकियाँ दिखाई जाएँगी। लेकिन ये नहीं बताएँगे कि ट्रम्प आए तो हमारे लिए क्या लाए? एयरपोर्ट से मोटेरा स्टेडियम तक 22 किलोमीटर तक का रोड शो है। मोटेरा स्टेडियम में एक लाख लोगों को बुलाया गया है। अहमदाबाद में गांधी जी के साबरमती आश्रम, आगरा में शाहजहाँ का बनवाया हुआ ताजमहल और दिल्ली में फिर से गांधी जी की समाधि राजघाट। ये सब जगह ट्रम्प के जाने की योजना है। 

ट्रम्प आए तो हमारे लिए क्या लाए?

अमरीका में चुनाव है और अमरीका में रहने वाले भारतीय मूल के वोटरों में गुजरातीयों की संख्या अच्छी ख़ासी है। ट्रम्प के लिए ये अच्छा मौक़ा है कि गुजरात के लोगों से केम छो केम छो कर लें। आने से पहले ट्रम्प बयान पर बयान दिए जा रहे हैं, कहा है कि हालाँकि भारत ने हमारे साथ अच्छा बर्ताव नहीं किया है लेकिन मुझे मोदी अच्छे लगते हैं।  ट्रम्प ने ये भी कहा की अभी इस बार कोई बड़ी डील नहीं होगी। बड़ी डील आने वाले टाइम में होगी अभी तो बस 2.4 बिलियन डॉलर की डील है। हथियार बंद हेलिकॉप्टर की ये डील है। 24 MH60 रोमियो सीहॉक हेलिकॉप्टर के लिए और कुछ और अपाचे हेलिकॉप्टर को भारत मंगवाने के लिए एक पैक्ट भी होगा।

तो ट्रम्प आए हमारे लिए क्या लाए? इस सवाल का जवाब मिल गया की ट्रम्प आए और हेलिकॉप्टर लाए। फ़्री में नहीं लाए दो दशमलव 4 बिलियन डॉलर की क़ीमत वाला डील लेकर आए। ज़ाहिर है इसमें अमरीका हमसे मोटा मुनाफ़ा भी कमा रहा होगा। लेकिन हमें क्या मुनाफ़ा होगा। भारत को क्या मिलेगा? टैक्स देने वाली जनता का करोड़ों रुपया जो ट्रम्प के स्वागत में लगाया जा रहा है उसका भारत को क्या फ़ायेदा होगा। फ़ौरी तौर पर कोई फ़ायेदा नज़र नहीं आता क्योंकि डील ही नहीं होगी। 

डील बाद में होगी ट्रम्प ने कह दिया है। ये भी कहा की चुनाव से पहले होगी या चुनाव के बाद कहा नहीं जा सकता। अब देखिए ये डील होती है या नहीं? लेकिन फ़िलहाल कोई बड़ी डील नहीं होने जा रही है। हमारी तरफ़ की कोई बात फ़िलहाल अमरीका मान नहीं रहा है। ऊपर से हमें विकसित देशों की लिस्ट में डाल दिया है जिसका भारत को व्यापार के लिहाज़ से नुक़सान ही नुक़सान है। हद तो ये है कि अभी हाल ही में अमरीका ने चीन से एक बड़ा द्विपक्षीय व्यापारिक समझौता कर लिया है। अब देखिए दोस्ती हमसे है लेकिन फ़ायेदा चीन का।  

अमरीका और भारत के बीच व्यापार घाटा 24 अरब डालर का है। इसलिए ट्रम्प कहते हैं कि भारत ने अमरीका के साथ अच्छा बर्ताव नहीं किया है और ट्रम्प हमसे लेने आ रहे हैं, देने नहीं आ रहे हैं। वो ट्रेड डेफ़िसिट को कम करना चाहते हैं और हम टैक्स देने वाले लोग अपने पैसे लुटाकर उनका स्वागत करेंगे। यमुना से गंगा को मिला देंगे। सारे ज़ख़्म छुपा लेंगे। ख़ुद को अच्छा साबित करेंगे, हम बिछ जाएँगे और अच्छा बर्ताव करेंगे। हम कहेंगे तोहफ़ा क़ुबूल कीजिए क्योंकि यही हमारी संस्कृति है। अतिथि देवो भव:।