आयुष मंत्रालय से पतंजलि को झटका, 'कोरोना किट' के प्रचार-प्रसार पर रोक लगाई

by GoNews Desk 1 month ago Views 1632
Jolt to Patanjali from Ministry of AYUSH - Ban on
योग गुरू बाबा रामदेव को केन्द्र की मोदी सरकार से बड़ा झटका लगा है। आयुष मंत्रालय ने बाबा रामदेव की कथित कोरोनी की दवाई के प्रचार-प्रसार पर रोक लगा दी है। पतंजलि की दवा ‘कोरोना किट या कोरोनिल’ को लेकर आयुष मंत्रालय ने दवा को लेकर पूरी जानकारी मांगी है।

आयुष मंत्रालय द्वारा जारी बयान में कहा गया है कि इस बात की जानकारी नहीं है कि किस तरह के वैज्ञानिक अध्ययन के बाद दवा बनाने का दावा किया गया है। मंत्रालय ने दवा की जांच-पड़ताल होने तक अगले आदेश तक विज्ञापन पर रोक लगा दी गई है।

Also Read: बिहार में बांध की मरम्मत का काम रोकने के बाद नेपाल ने निर्माण की इजाज़त दी

बाबा रामदेव का दावा है, ‘पतंजलि दुनिया में ऐसा पहला आयुर्वेदिक संस्थान है जिसने जड़ी-बूटियों के गहन अध्ययन और शोध के बाद कोरोना वायरस की दवा प्रमाणिकता के साथ बाज़ार में उतारा है।’

उन्होंने दावा किया है क्लिनिकल ट्रायल के दौरान ‘कोरोनिल’ के 100 फीसदी नतीजे दिखे हैं। अपने दावे में रामदेव ने कहा कि ’कोरोनिल’ दवाई देने पर सात दिन के भीतर कोरोना मरीज़ 100 फीसद ठीक हो गए।

दवाई की लॉन्चिंग के दौरान पतंजलि की ओर से कहा गया, ‘कोरोना किट या कोरोनिल दवाई में अश्वगंधा मिलाया गया है जो कोरोना वायरस को इंसान के शरीर की कोशिकाओं में नहीं घुसने देता। इस दवा में गिलोय का इस्तेमाल भी किया गया है जो संक्रमण को रोकता है।’

साथ ही पतंजलि की ओर से बताया गया है कि इस दवा में तुलसी का मिश्रण भी है जो कोविड-19 के लिए अक्रामक साबित होगा। वहीं ये वायरस को मल्टी प्लाई होने से भी रोकेगा।

Latest Videos

Facebook Feed