पूर्वोत्तर में हज़ारों ट्रेन यात्री फंसे, खाने के लिये भी पैसे नहीं

by GoNews Desk 1 month ago Views 1659
Thousands of train passengers stranded in Northeas
ads
नागरिकता क़ानून के ख़िलाफ़ पूर्वोत्तर में जारी उबाल के बीच ट्रेन सेवा पूरी तरह ठप पड़ी है. गुवाहाटी समेत तमाम रेलवे स्टेशनों पर हज़ारों यात्री कई-कई दिन से फंसे हुए हैं जिनकी जेबें भी अब ख़ाली हो गई हैं.   

नागरिकता क़ानून के ख़िलाफ़ चार दिन से जारी हिंसक आंदोलनों के चलते उत्तर पूर्व के राज्यों में रेल सेवा ठप है और हज़ारों मुसाफ़िर रेलवे स्टेशनों पर फंसे हुए हैं. चार दिन से स्टेशनों पर फंसने की वजह से मुसाफ़िरों की जेबें ख़ाली हो गई है. स्टेशनों पर सोने के इंतज़ाम नाकाफी हैं और खाना भी महंगा बिक रहा है.

Also Read: जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक़ अब्दुल्लाह की नज़रबंदी तीन महीने बढ़ाई गई

बिहार के मुज़फ़्फ़रपुर के कारोबारी सुधीर कुमार चार दिन से गुवाहाटी रेलवे स्टेशन पर फंसे हुए हैं जिन्हें डिब्रूगढ़ जाना था. सुधीर कुमार की जेब में भी पैसे अब ख़त्म हो गए हैं. गुवाहाटी में रेहड़ी लगाने वाले महेश कहते हैं कि इस संकट से उनका धंधा चौपट हो गया.

वीडियो देखिये

हालांकि नॉर्थ ईस्ट फ्रंटियर रेलवे ने फंसे यात्रियों को निकालने के लिए विशेष ट्रेनें चलाने का ऐलान किया है लेकिन राज्य में क़ानून व्यवस्था इतनी बदतर है कि ट्रेनें बमुश्किल एक जगह से दूसरी जगह पहुंच पा रही हैं. इस बीच पश्चिम बंगाल के हावड़ा ज़िले में प्रदर्शनकारियों ने एक रेलवे स्टेशन का कुछ हिस्सा जला दिया और वहां तैनात सुरक्षाकर्मियों की पिटाई की. राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने लोगों से शांतिपूर्ण प्रदर्शन की अपील की है. वहीं असम सरकार ने बिगड़ते हालात को देखते हुए पूरे राज्य में इंटरनेट सेवा 16 दिसंबर तक बंद कर दी है.